ACS Pyra-Vaastu Smt. Mamta Choudhary – Hindi Book

90

वास्तु शास्त्र Jump to navigationJump to sear SANSKRIT में कहा गया है कि… गृहस्थस्य क्रियास्सर्वा

SKU/I.Code : 170 Category:

वास्तु शास्त्र

Jump to navigationJump to sear

SANSKRIT में कहा गया है कि… गृहस्थस्य क्रियास्सर्वा न सिद्धयन्ति गृहं विना। [ वास्तु शास्त्र घर, प्रासाद, BHAVAN  अथवा   MANDIR   निर्मान करने का प्राचीन भारतीय विज्ञान है जिसे आधुनिक समय के विज्ञान आर्किटेक्चर का प्राचीन स्वरुप माना जा सकता है।

डिजाइन दिशात्मक संरेखण के आधार पर कर रहे हैं। यह हिंदू वास्तुकला में लागू किया जाता है, हिंदू मंदिरों के लिये और वाहनों सहित, बर्तन, फर्नीचर, मूर्तिकला, चित्रों, आदि।

दक्षिण भारत में वास्तु का नींव परंपरागत महान साधु  MAYAN  को जिम्मेदार माना जाता है और उत्तर भारत में VISHVAKARMA  को जिम्मेदार माना जाता है।

Pyramid Yantra Plastic Yantra

20%

SANSKRIT  में कहा गया है कि… गृहस्थस्य क्रियास्सर्वा न सिद्धयन्ति गृहं विना।  वास्तु शास्त्र घर, प्रासाद, BHAVAN अथवा  MANDIR  निर्मान करने का प्राचीन भारतीय विज्ञान है जिसे आधुनिक समय के विज्ञान आर्किटेक्चर का प्राचीन स्वरुप माना जा सकता है।

दिशात्मक संरेखण के आधार पर कर रहे हैं। यह हिंदू वास्तुकला में लागू किया जाता है, हिंदू मंदिरों के लिये और वाहनों सहित, बर्तन, फर्नीचर, मूर्तिकला, चित्रों, आदि।

दक्षिण भारत में वास्तु का नींव परंपरागत महान साधु MAYAN को जिम्मेदार माना जाता है और उत्तर भारत में VISHVAKARMA को जिम्मेदार माना जाता है।

Weight

200 Gm

Dimensions

21.5*14*1 Cm